+977 9854027065 | akulpdsah@gmail.com

लडैत रहब बलिदान के खातीर

4 महीना पहिले प्रकाशित

Akul Prasad Sah

264 Views

         कविता


हम अहाँके मानके खातिर,
लडैत रहब सम्मानके खातिर,
मधेश मधेशी नाम के खातिर,
हमर आहाँ स्वभीमान के खातिर,
बीर सहिद बलीदान के खातिर,
बजैत रहब अधिकार के खातिर ।

कुइट कुइट निखार देने छी,
हमरा अहाँ आधार देनेछी,
कुइट कुइट जे गैह्र देनेछी,
हमरा अहाँ भैर देनेछी,
प्रसाद जौ छी अहाँ धाम के,
दुत छी मधेशक नाम के,
जन जन जनैत अछि अहाँ केरे काम,
मन मन बसैत अछि अहाँ केरे नाम,
नाम आ बलिदान के खातिर,
लडदिय ओइ सान के खातिर,
हमर अहाँ पहिचान के खातिर,

नित दिन नवनव बाट खनैछी,
इतिहास सबगोटे जनैछि,
मधेश भूमिपर सहिदक तेवर,
रकत खुन श्रृङ्गार केनेछि,
बाज दिय ओइ कर्म के खातिर,
सत्य के गहना धर्मके खातिर,
पका पका जौँ लाल केने छी,
हमरा अहाँ गुलाल केनेछि,
हुँहँुकार भरैछि लाल के खातिर,
वीर सहिद कमाल के खातिर ।

हम अहाँके मानक खातिर,
लडैत रहब सम्मान के खातिर ।

लेखक ः भोला यादब

यो खबर पढेर तपाईलाई कस्तो महसुस भयो ?

कमेन्ट गर्नुहोस्

ए.स.कर्मचारी संगठनमधेश प्रदेश द्धारा अध्यक्ष एवं पूर्व प..

मिथिला जागरण समाचारदाताजनकपुरधाम, जेष्ठ ८ गते । ए.स.कर्मचारी संगठन मधेश प्रदेशको कार्य समितिको महासचिब सुरेश कुम..

11 घन्टा पहिले

कविता ः रक्सि मानिसको के हो ?

          कविता ः रक्सि मानिसको के हो ?   रक्सि जीवन विगार्ने पेय हो ।पिए पछि भन्ने जय हो ।। स्वास्नीको सिन्द..

20 घन्टा पहिले

श्याम बाबा लगायतका मूर्ति निर्माण गर्न देवशिला अब राजस्..

कमल साह जनकपुरधाम,जेष्ठ ७ गते । श्री श्याम बाबालगायतका भगवानको मूर्ति बनाउन बागलुंगबाट ल्याईएको देवशिलालाई अब र..

3 दिन पहिले

संघीयता स्थापना पश्चात् मधेशको विकास अनुसन्धान गर्न सम..

कमल साहजनकपुरधाम, जेष्ठ ७ गते । मुलुकमा संघीयता स्थापना भए पश्चात् मधेशको विकास हेर्न बुझन एवं अध्ययन गर्नका लाग..

3 दिन पहिले

चुरे दोहन रोक्न काठमाण्डौको पद यात्रा

कमल साह, धनुषाजनकपुरधाम ,जेष्ठ ७ गते । चुरे जलाधर क्षेत्र तराई मधेशको प्राणवायु हो भन्दै चुरे बचाउ अभियानीहरु संघ..

3 दिन पहिले